ख़ुत्बात  
  74- आपके ख़ुत्बे का एक हिस्सा
(जब लोगों ने उस्मान की बैअत करने का इरादा किया)


तुम्हें मालूम है के मैं तमाम लोगों में सबसे ज़्यादा खि़लाफ़त का हक़दार हूँ और ख़ुदा गवाह है के मैं उस वक्त तक हालात का साथ देता रहूंगा जब तक मुसलमानों के मसाएल ठीक रहें और ज़ुल्म सिर्फ़ मेरी ज़ात तक महदूद रहे ताके मैं इसका अज्र व सवाब हासिल कर सकूँ और इसी ज़ेब व ज़ीनते दुनिया से अपनी बेनियाज़ी का इज़हार कर सकूं जिसके लिये तुम सब मरे जा रहे हो।